Bulletins Of India

सीएम ने कहा–मास्क लगाएं क्योंकि मास्क लगाने वाले 98% कोरोना से मुक्त हैं

संकलन : Vyas Sachin | प्रकाशन तिथि : 07-04-2021 15:12 | गुजरात समाचारसूरत समाचार

 

घबराने की जरूरत नहीं पर कोरोना के केस और बढ़ेंगे :

प्रदेश में कोरोना को लेकर क्या हालात हैं, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि खुद मुख्यमंत्री विजय रूपाणी यह मान रहे हैं कि राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या अभी और बढ़ेगी। यह बात उन्होंने सूरत कलेक्ट्रेट में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कही। रूपाणी ने कहा कि प्रदेश में जो हालात हैं उसको देखते हुए यह कहा जा सकता है कि आने वाले समय में संक्रमण और बढ़ेगा, लेकिन हमें घबराने की जरूरत नहीं है।

प्रदेश में 70 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है। 4 लाख लोगों को हर रोज वैक्सीन दी जा रही है। उन्होंने लोगों से अपील की कि वैक्सीन लें और मास्क अवश्य पहनें, क्योंकि मास्क पहनने वाले 98 प्रतिशत लोगों को कोरोना नहीं होता है। सीएम रूपाणी ने सूरत मनपा स्वास्थ्य विभाग को 50 और संजीवनी रथ सौंपे।

इस तरह अब मनपा के पास 100 संजीवनी रथ हो गए, जो होम क्वारेंटाइन कोरोना मरीजों की जांच करेंगे। सीएम ने कहा कि ऐसे नर्सिंग होम जिनके पास 10 से 20 बेड है और उनके यहां आईसीयू की व्यवस्था नहीं है वहा भी कोविड के एसिम्टोमैटिक मरीजों का इलाजकिया जाएगा। साथ ही बड़े निजी अस्पतालों में आईसीयू की व्यवस्था की गई है।

सूरत को ढाई हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन देने की घोषणा 

सीएम विजय रूपाणी ने कहा कि अब प्रदेश में हर रोज 1.20 लाख लोगों की कोरोना जांच की जा रही है। जो पहले 60 हजार थी। सीएम ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी पर कहा कि यह बहुत ही कारगर इंजेक्शन है जो कोरोना मरीजों के लिए इस्तेमाल हो रही है।

ऐसे में राज्य सरकार ने 3 लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन का और ऑर्डर दिया है, जो जल्द मिल जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि सूरत में मंगलवार की रात तक ढाई हजार इंजेक्शन पहुंच जाएगा। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि निजी अस्पतालों को भी इंजेक्शन दिया जाएगा, ताकि वहां मरीजों को इंजेक्शन के लिए भटकना न पड़े।

मुख्यमंत्री रूपाणी ने सूरत को 300 वेंटिलेटर दिए, सिविल अस्पताल में और 800 बेड की व्यवस्था जल्द की जाएगी

सीएम ने घोषणा की कि मरीजों की संख्या को देखते हुए जल्द ही सिविल अस्पताल परिसर में बने किडनी अस्पताल में 800 बेड का कोविड अस्पताल शुरू होगा। इसके अलावा गंभीर मरीजों को समय पर वेंटिलेटर मिल सके इसके लिए राज्य सरकार ने सूरत को 300 वेंटिलेटर भी दिया है। जरूरत पड़ने पर निजी अस्पतालों को भी वेंटिलेटर उपलब्ध कराया जाएगा।

सूरत की डराने वाली इन दो तस्वीरों के बीच सरकार कह रहे...

 

 

बुलेटिन्स ऑफ इंडिया पर अन्य अद्यतन