Bulletins Of India

सरकार और प्रशासन कोरोना से होने वाली मौत के आंकड़ों को छुपा रही है: योगेश जादवानी

संकलन : Vyas Sachin | प्रकाशन तिथि : 07-04-2021 15:25 ▶ सूरत समाचार

 

‘आप ’ का आरोप : 

आम आदमी पार्टी ने सरकार और प्रशासन पर कोरोना से होने वाली मौतों के आंकड़ों को छिपाने का आरोप लगाया है। आप के प्रदेश प्रवक्ता योगेश जादवानी ने मंगलवार को प्रेस वार्ता में बताया कि 5 अप्रैल को दोपहर 2 से 5 बजे हमारे कार्यकर्ताओं ने अश्विनी कुमार श्मशान भूमि में कोरोना से मरने वाले शवों की गणना की और वीडियो भी बनाया। जिसमें चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं।

केवल दो घंटे में ही कोरोनाग्रस्त 26 शव अश्विनी कुमार श्मशान भूमि में दाह संस्कार के लिए लाए गए। सूरत में अश्विनी कुमार के अलावा और भी श्मशान भूमि हैं। एक श्मशान में अगर दो घंटे में कोरोना से मरने वाले 26 शव आए तो दूसरे श्मशान में 24 घंटे में 125 से 150 से अधिक शव आते होंगे। इसे साफ जाहिर है कि शहर में कोरोना से रोजाना 150 से अधिक लोगों की मौतें हो रही हैं।

सोमवार को सरकारी विभाग की ओर से कोरोना से 7 लोगों की मौत होने का आंकड़ा जारी किया। सरकारी आंकड़ों और जमीनी हकीकत में बहुत बड़ा अंतर है। प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि सरकार मौत के आंकड़े छिपाकर या तो अपनी निष्फलता पर पर्दा डाल रही है या रिकवरी रेट अच्छा बताकर आंकड़ों का खेल रही है। एक ओर गुजरात और गुजरात मॉडल की बातें हो रही हैं तो दूसरी ओर लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने में प्रदेश सरकार निष्फल रही है।

सिविल और स्मीमेर अस्पताल में इलाज, सुविधा, दवा, इंजेक्शन की भारी कमी 

प्रतिपक्ष नेता धर्मेश भंडेरी ने पत्रकारों को बताया कि मेयर हेमाली बोघावाला सोशल मीडिया पर वाहवाही लूटने, अपनी पब्लिसिटी करने के लिए कहती हैं कि लोगों को अस्पताल में इलाज, दवा, रेमडेसिवीर इंजेक्शन की जरूरत पड़े तो हमसे सीधे संपर्क करें।वहीं, दूसरी ओर पत्रकारों से कहती हैं कि हमारा मोबाइल नंबर अखबार में मत छापना।

इससे साबित होता है कि भाजपा नेताओं के खाने के दांत और दिखाने के और हैं।

इंजेक्शन के लिए लोग सिविल और स्मीमेर अस्पताल में मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं को लेकर रोज हंगामा हो रहा है।

 

 

बुलेटिन्स ऑफ इंडिया पर अन्य अद्यतन