Bulletins Of India

गुजरात के आनंद, खेड़ा, दाहोद, जामनगर और जूनागढ़ के 24 गांवों और छोटे शहरों में स्वैच्छिक लॉकडाउन

संकलन : Vyas Sachin | प्रकाशन तिथि : 07-04-2021 23:21 ▶ राजकोट समाचार

 

कोरोना पर ग्रामीण गंभीर :

गुजरात में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर आणंद, खेडा, दाहोद, जामनगर और जूनागढ़ के कुल 24 गांव और छोटे शहरों में स्वैच्छिक और आंशिक लॉकडाउन का निर्णय लिया है। कच्छ-मुंद्रा के कई गांवों में आंशिक लॉकडाउन घोषित, मलातज में भी स्वैच्छिक लॉकडाउन चल रहा है। वहीं आणंद में पिछले दो महीनों में डेमोल, रूपियापुरा, पीपलाव, सारसा, विरसद, मलातज स्वैच्छिक लॉकडाउन चल रहा है और लोग इस बीमारी से बचने के लिए कोरोना गाइडनाइन का सख्ती से पालन कर रहे हैं।

मध्य गुजरात के कई गांवों और शहरों में आंशिक लॉकडाउन 

 आणंद में पिछले दो महीने में डेमोल, रूपियापुरा, पीपलाव, सारसा, विरसद, मलाजत, यांगा, पणसोरा और लिगडा सहित बोदाल और कासोर ग्राम पंचायत ने भी स्वैच्छिक लॉकडाउन घोषित किया है। खेडा जिले के तीन तालुका के गांवों में स्वैच्छिक लॉकडाउन शुरू किया गया है, जिसमें वसो तालुका के पीज, कपडवंज तालुका के तेलनार और नडियाद तालुका के अलिन्द्रा गांव शामिल है। इन सभी गांवों में दोपहर बाद स्वैच्छिक तौर पर लॉकडाउन घोषित किया गया है। दाहोद जिले के बलैया गांव में 1 अप्रैल से 5 अप्रैल तक लॉकडाउन रखा गया।

कच्छ-सौराष्ट्र में स्वैच्छिक लॉकडाउन घोषित किया गया जामनगर में मोटीबाणुगर में 1 सप्ताह का स्वैच्छिक लॉकडाउन चल रहा है। जबकि जमजोधपुर के गोप में भी कुछ समय पहले एक सप्ताह का स्वैच्छिक लॉकडाउन घोषित किया गया था। जूनागढ़ जिले के टीकर, धंधूसर गांव में स्वैच्छिक लॉकडाउन चल रहा है

जबकि सांतलपुर में भी लॉकडाउन घोषित करने के बारे में बैठक आयोजित की गई। सुरेंद्रनगर जिले में ध्रांगध्रा में विभिन्न एसोसिएशन द्वारा 12 अप्रैल तक शाम 6 बजे बाद स्वैच्छिक बंद का निर्णय लिया गया है। भुज-मुंद्रा तालुका के सांएघोघा गांव में 13 दिनों का आंशिक लॉकडाउन ग्राम पंचायत की ओर से घोषित किया गया है। कच्छ में बढ़ रहे केसों को ध्यान में रखते हुए समाघोघा गांव के सरपंच द्वारा भी 6 अप्रैल से 18 अप्रैल तक दोपहर के 3 बजे तक बाजार बंद रखने की घोषणा कर दी है। 

बुलेटिन्स ऑफ इंडिया पर अन्य अद्यतन